fbpx
Drumroll New Website Launch Email Header by real moment
Home NEWS INTERNATIONAL NEWS Cyber Crime-एक वैश्विक समस्या,भारत साइबर अपराध में सबसे आगे क्यों ?

Cyber Crime-एक वैश्विक समस्या,भारत साइबर अपराध में सबसे आगे क्यों ?

साइबर अपराध यानी Cyber crime इस सोशल मीडिया ,तेज इंटर्नेट की क्रांति वाले दुनिया की सबसे गंभीर समस्या के रूप में उभर कर सामने आया है, यह मात्र राष्ट्रीय न होकर एक वैश्विक समस्या बन गया है।

Cyber crime एक ऐसा अपराध जिसमें कम्प्यूटर का इस्तेमाल करके किसी की निजी जानकारी हैकिंग , फ़िशिंग से निकाल कर दुरुपयोग कर लेना, emails हैक कर लेना ,बैंकिंग पासवर्ड हैक कर लेना इत्यादि अब बहुत बड़े स्तर पर बढ़ रहा है।

यह भी पढ़ें – बिहार में चुनाव है:-जानिए क्या है इस बार के चुनावी आँकड़े-किसकी सरकार इस बार ?

इससे प्रभावित 5 सबसे बड़े देशों में भारत(India) US,UK,Canada के बाद चौथे स्थान पर आता है तथा पाँचवे स्थान पर औस्ट्रेलिया।

भारत की बात करें तो जहाँ 2012 में साइबर क्राइम Cyber crime से सम्बंधित रिपोर्टेड मामले 3477 से बढ़कर 2019 में 44546 हो गई है, जो पिछले साल यानी 2018 के रिपोर्ट से 63% ज़्यादा है।

साइबर अपराध यानी Cyber crime इस सोशल मीडिया ,तेज इंटर्नेट की क्रांति वाले दुनिया की सबसे गंभीर समस्या के रूप में उभर कर सामने आया है, यह मात्र राष्ट्रीय न होकर एक वैश्विक समस्या बन गया है।
साइबर अपराध यानी Cyber crime इस सोशल मीडिया ,तेज इंटर्नेट की क्रांति वाले दुनिया की सबसे गंभीर समस्या के रूप में उभर कर सामने आया है, यह मात्र राष्ट्रीय न होकर एक वैश्विक समस्या बन गया है।

 

भारत के तीन राज्य जहाँ (2017-2019) में सबसे ज़्यादा साइबर अपराध के केस दर्ज हुवे हैं वह कर्नाटक(27%), उत्तरप्रदेश (25.6)एवं महाराष्ट्र(11.2)% हैं।

भारत के तीन राज्य जहाँ (2017-2019) में सबसे ज़्यादा साइबर अपराध Cyber crime के केस दर्ज हुवे हैं वह कर्नाटक(27%), उत्तरप्रदेश (25.6)एवं महाराष्ट्र(11.2)% हैं।

यह भी पढ़ेंअर्नब की गिरफ़्तारी पर मानवाधिकार आयोग सख़्त , आवास से गिरफ़्तार कर लिया गया।

इनमें अपराध के तीन मुख्य उद्देश्य उभर कर सामने आए हैं, पहला और सबसे बड़ा fraud यानी धोखाधड़ी जिसके बैंक डिटेल्ज़ अकाउंट फ़्रॉड मुख्य रहे, दूसरा मानहानि जिसमें लोगों की निजी जानकारियों को निशाना बनाया गया और तीसरा एवं बहुत गम्भीर यौन उत्पीड़न है जिसमें अपराधी को लड़कियों को ब्लैक्मेल करते हुवे पाया गया।

चिंता का विषय यह भी है की साइबर अपराध के रिपोर्टेड पिछले एक साल के लगभग 2 लाख से ऊपर केस में से मात्र 5000 ही FIR के रूप में दर्ज हुवे, इसका कारण लोगों के मन का संकोच है या पुलिस की लापरवाही और असहयोग?

भारत में बढ़ता यह साइबर अपराध अब बड़े शहरों के साथ छोटे क़स्बों में भी अपनी जगह बना रहा है और महामारी के रूप में फैलते इस अपराध को पुलिस एवं प्रशासन को बहुत ही गम्भीरता से लेना होगा क्यूँकि यह पूरी नस्ल को काल के गाल में धकेल सकती है।

यह भी पढ़ें-

The New launch of Micromax IN series

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

टीना डाबी व आमिर आथर का तलाक – शादी भी चर्चित और अब तलाक भी।

वर्ष 2016 की आई ए एस टॉपर टीना डाबी व उनके पति आमिर ने शादी के दो साल बाद ही आपसी सहमति से तलाक...

धोखाधड़ी का मामला दर्ज,6 गिरफ्तार

पीड़ितों ने संजय भाटी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। मेसर्स गर्विनेट इनोवेटिव प्रमोटर्स लिमिटेड का प्लॉट नंबर -1, चिटी, दादरी, जिला में अपना...

ब्रिक्स शिखर सम्मेलन का आगाज

कोरोना महामारी के चलते ब्रिक्स देशो ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मुलाकात की। रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन की अध्यक्षता मे आयोजित इस...

फाइनेंस मिनिस्टर ने आत्मानिभर भारत 3.0 की घोषणा की, नई नौकरी योजना शुरू

फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण आज प्रेस कॉन्फ्रेंस में कई नई योजना की घोषणा,आइये जानते है फाइनेंस मिनिस्टर ने किया कहा:-  फाइनेंस मिनिस्टर ने 65,000 रुपये...

Recent Comments